Link Shortening क्या है और जाने इसके 5 फायदे 2022 में

link shortened kya hai
Source: pixabay.com

एक ब्लॉगर के नज़रिए से हमें ब्लॉग के ट्रैफिक को बढ़ाने के लिए बहुत ज्यादा परेशान होना पड़ता है।

लगातार कई महीनों/सालों तक ब्लॉगिंग करने के बाद भी ना ट्रैफिक बढ़ पाता है और न ही किसी तरह का रेवेन्यू हासिल हो पाता है।

हालांकि आप जो भी पोस्ट लिखते है और इसे सोशल साइट्स पर शेयर करते है, इस पर यूजर क्लिक करने के लिए इसका अट्रैक्टिव होना हमेशा मायने रखता है।

और इसी टैक्टिक्स में आप, आज के इस पोस्ट में हम Link Shortening के बारे में जानेंगे।

जैसे: लिंक शोर्टेनिंग क्या है, यह कैसे काम करता है और इसके क्या फायदे या नुकसान है।

तो सबसे पहले लिंक शोर्टेनिंग के बारे में जानते है।

Link Shortening क्या है?

इसे यूआरएल शॉर्टेनिंग भी कहते है। लंबे बोझिल यूआरएल को शॉर्ट (छोटा) करके इसे याद रखने और शेयर करने लायक बनाया जाता है।

URL shortening is a technique on the World Wide Web in which a Uniform Resource Locator (URL) may be made substantially shorter and still direct to the required page.
Wikipedia

लम्बे यूआरएल यूजर अट्रैक्शन खो देता है और इससे आपके साइट का ट्रैफिक गिर जाता है और अक्सर लंबे यूआरएल को कॉपी करने के दौरान कुछ पार्ट छूट भी जाता है, जिससे डेस्टिनेशन पेज तक नहीं पहुंचा जा सकता है।

लंबे यूआरएल के कुछ उदाहरण नीचे देखिए,

क्या ऐसा URLs सही रहेगा,

https://richblog.in/How-To-Write-Your-1st-Post-Including-Important-Factors-In-Hindi/

या ऐसा,

Https://Www.Prabhatkhabar.Com/State/Up/Meerut/Pm-Narendra-Modi-Meerut-Visit-Live-In-Uttar-Pradesh-Nrj

या फिर ऐसा,

Http://Www.Pmsonline.Bih.Nic.In/Pmsedu/(S(Luuig3mufan2y5ke0mlw0qpu))/Pms/Default.Aspx

ओह!!! ऊपर दिए गए सभी यूआरएलएस बहुत टफ है, अगर आपको इसे याद करना है।

जहां तक बात पहले यूआरएल का है, उसे याद किया किया जा सकता है, पर तीसरे नंबर के यूआरएल को याद करना नॉर्मल आदमी के लिए संभव नहीं है।

और न ही इतना अट्रैक्टिव है, जिसे शेयर करने से कुछ लाइक और कमेंट्स मिल सके।

क्योंकि इसका यूआरएल काफी लंबा है और इसमें काफी कॉम्प्लेक्स वर्ड शामिल है।

पर

इसे अट्रैक्टिव और छोटा बनाया जा सकता है।
जैसे:

https://bit.ly/34gbQRk

Link Shortening कैसे काम करता है?

लिंक शोर्टिंग यूआरएल रिडायरेक्शन तरीके पर काम करता है, जिसमें यूआरएल को (301 मेथड) के द्वारा एक डोमेन से दूसरे डोमैन में परमानेंट रूप से रेडायेक्ट कर दिया जाता है।

ग़ौरतलब है कि परमानेंट रिडायेक्ट सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के लिहाज से सबसे बेहतर माना जाता है।

IMG 20220108 115452002
Source: richblog.in

ऊपर दिए गए इमेज को समझते है।

A URL को जब B वेबसाइट के द्वारा शॉर्ट किया जाता है, तब एक नया लिंक जेनरेट होता है और इसे शेयर करने के बाद जब कोई यूजर इस शॉर्ट् लिंक पर क्लिक करता है, तो पेज खुलने के बाद यूआरएल पहले अथार्थ A के जैसा ही दिखाता है।

ओवरऑल लिंक शॉर्टेनिंग तकनीक के द्वारा भद्दे और लंबे लिंक को छोटे प्रीटी लिंक में बदल दिया है, बाकि सब पहले जैसा ही रहता है।

फैक्ट: दुनियाभर में लिंक शोर्टेनिंग सर्विस साइट को सबसे पहले tinyurl के द्वारा 2002 में लॉन्च किया गया था, इसके बाद अब तक bitly, cutt जैसे बहुत से साइट लॉन्च हो चुके है।

इस्तेमाल की वजह

  1. लंबे लिंक, छोटे लिंक के तुलना में ज्यादा स्टोरेज कैप्चर करते है।
  2. कॉम्प्लेक्स से कॉम्प्लेक्स यूआरएल को एक बार में शोर्टेनिंग करने क्षमता।
  3. कुछ Shrinkme जैसे साइट पर लिंक शॉर्ट और शेयर करके कमाई भी किया जाता है।
  4. इस तरह का लिंक को इंडिविजुअल ट्रेस (ट्रैफिक) किया जा सकता है, जो आगे आपको रणनीति बनाने में आपके सहायक साबित हो सकता है।

आपको पता होना चाहिए कि फेसबुक, ट्विटर जैसे साइट भी लिंक को ऑटोमैटिक रूप से शॉर्ट करती है, ताकि इसे आसानी से शेयर किया जा सके।

नुकसान

अक्सर इस तरह से शॉर्ट किए गए लिंक स्पैम (फर्जी) नजर आता है और इसी वजह से कई यूजर इस तरह के लिंक को क्लिक करने का जोखिम नहीं उठाना चाहते है।

जैसे मेरा पोस्ट https://richblog.in/enrollapp को जब bitly जैसे साइट से शोर्टेनिंग किया जाता है, तब शोर्टेड लिंक https://bit.ly/3fjWiyg आता है, अगर यूजर को bitly के बारे में नहीं पता होगा, तो वह इसे स्पाम ही समझेगा।

इसी लिए जब भी लिंक शॉर्टेनिंग करना हो, तो कुछ पॉपुलर साइट्स से ही करे, जिसके बारे में यूजर्स को पहले से ही जानकारी हो।

लिंक शॉर्टेनिंग सर्विसेज

वैसे इन्टरनेट में अभी बहुत सारे सर्विसेज साइट्स उपलब्ध है, जिनका इस्तेमाल लिंक शॉर्ट करने के लिए किया जा सकता। हालांकि इनमें से कुछ फ्री है, कुछ प्रीमियम है और कुछ फ्रीमियम (फ्री और प्रीमियम) दोनों है।

इस तरह के सर्विसेस का इस्तेमाल आप अपने ब्लॉग, ट्यूटोरियल वेबसाईट, ई-कॉमर्स वेबसाईट या वीडियो वेबसाइट के लिए कर सकते, वैसे भी यह आपके बिजनेस और कस्टमर साइज पर निर्भर करता है।

आइए जानते है कुछ फ्री और प्रीमियम वेबसाइट के बारे में।

Bitly

Screenshot 20220113 102412
Source:bitky.com

इस कंपनी को 2008 में अमेरिका में लॉन्च किया गया था और हर महीने इस साइट से 600 मिलियन यूआरएल शोर्तेनिंग किया जाता है।

2009 में ट्विटर ने अपने प्लेटफॉर्म में इसे डिफॉल्ट शोर्टेनिंग सर्विस के रूप में अपनाया था।

इसके द्वारा आप मोबाइल लिंक, क्यूआर कॉड लिंक और ब्रांडेड लिंक जेनरेट कर सकते है और जब भी चाहे इंडिविजुअल रूप से एक एक लिंक को ट्रेस कर सकते है।

अगर आप इसका फ्री वर्जन इस्तेमाल कर रहे है, तो लिंक शोर्टेनिंग सिर्फ bit.ly जैसे डोमेन से होगा, पर अगर खुद का डोमेन जोड़ना चाहते है या क्यूआर कॉड जेनरेट करना चाहते है, तो इसके लिए इसका प्रीमियम प्लान लेना होगा।

इसका प्रिमियम महीने वाला प्लान $35 से $300 तक में मिलेगा और सलाना प्लान $29/महीने और $199/महीने के हिसाब से मिलेगा।

अगर आप किसी बड़े बिजनेस के लिए प्लान लेना चाहते है, तो इसका कॉन्टैक्ट पेज को विजिट कर सकते है।

Cuttly

Screenshot 20220113 154332

बिटली के यह भी यूआरएल शोर्टेनिंग वेबसाईट है, जो ब्लक शोर्टेनिंग, अनालिस्टिक्स और API बेस्ड सर्विस के लिए जाना जाता है।

इसके ईयरली फ्री प्लान में 3 डोमेन, $275/ईयरली प्लान में 5 डोमेन, $1089 में 10 डोमेन और $1639 में 99 तक डोमेन जोड़ सकते है।

इसके अलावा इसका मंथली प्लान $25/महीना में 5 डोमेन, $99/महीना में 10 डोमेन, और $199/महीना में 99 डोमेन जोड़ सकते है।

Short

Screenshot 20220113 181639

इसके 200K से ज्यादा कस्टमर्स है और हर दिन इस साइट के माध्यम से 200 मिलियन से ज्यादा लिंक शोर्टेनिंग किया जाता है।

इसके अलावा इसका प्लान बिटली जैसे साइट के तुलना में कम भी है।

इसका मंथली प्लान क्रमश: $20, $50, $150 में आता है और ईयरली प्लान $200, $500 और $1500 में आता है।

Conclusions

आज के इस पोस्ट में, मैंने आपको लिंक शोर्टेनिंग सर्विस के बारे में बताया है जैसे: यह क्या होता है और कैसे काम करता है?

अगर आप लिंक शोर्टेनिंग करना सही तरीके से जान जाते है, तो अपने वेबसाइट या ब्लॉग के ट्रैफिक को बढ़ाने के साथ साथ ही कुछ कमाई भी कर सकते है।

ओवरऑल आज के इस पोस्ट में इतना ही और हो सके तो इस पोस्ट को अपने सोशल मीडिया पेज में शेयर करे और दोस्तों को भी बताए ताकि उसे कुछ फायदा मिल सके।

अंत में इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद्!!! 🤗

Leave a Reply

%d bloggers like this: